दिल्ली में रिकॉर्ड ऊँचे तापमान की दस्तक: 52.3°C तक पहुंचा पारा

दिल्ली में रिकॉर्ड ऊँचे तापमान की दस्तक: 52.3°C तक पहुंचा पारा
Tarun Pareek
मौसम समाचार 0 टिप्पणि
दिल्ली में रिकॉर्ड ऊँचे तापमान की दस्तक: 52.3°C तक पहुंचा पारा

दिल्ली में तापमान ने तोड़ा रिकॉर्ड, पहुंचा 52.3 डिग्री सेल्सियस

मई 29, 2024 को दिल्ली में तापमान ने अपने सभी पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए, जब मंगेशपुर स्थित एक ऑटोमैटिक मौसम स्टेशन ने 52.3 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया। यह रीडिंग दिल्ली के इतिहास में किसी भी दर्ज की गई सबसे उच्चतम तापमान से काफी अधिक थी। हालांकि, इस रिकॉर्ड तापमान की सत्यता पर अब सवाल खड़े किए जा रहे हैं। भारत मौसम विभाग (IMD) इस रीडिंग की जांच कर रहा है क्योंकि उन्हें संदेह है कि या तो सेंसर में कोई समस्या हो सकती है या कुछ स्थानीय परिस्थितियों ने इस अत्यधिक तापमान का कारण बनाया हो सकता है।

दिल्ली एनसीआर में सामान्य से अधिक तापमान

इस उच्चतम तापमान की तुलना में, दिल्ली एनसीआर में अन्य भागों में दर्ज तापमान 45.2°C से 49.1°C के बीच था। दिल्ली के 20 निगरानी स्टेशन के औसत तापमान 45°C से 50°C के दायरे में था। इससे स्पष्ट होता है कि मंगेशपुर में दर्ज तापमान सामान्य से बहुत अधिक था। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने भी ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी कि IMD इस रीडिंग को सत्यापित कर रहा है और यह संभवतः त्रुटिपूर्ण हो सकता है।

अतीत का उच्चतम तापमान और बढ़ती मांग

इससे पहले, दिल्ली में सबसे उच्चतम तापमान मई 28 को 49.9°C दर्ज किया गया था, जो पिछले 100 वर्षों में सबसे अधिक था। यह तापमान भी हर किसी को हैरान कर गया था और राजधानी के बाशिंदों को अत्यधिक गर्मी का सामना करना पड़ा था। हाल के दिनों में, दिल्ली और उसके आस-पास के इलाकों में तापमान सामान्य से 9 डिग्री तक अधिक दर्ज किया गया है। यह अत्यधिक गर्मी बिजली की मांग में भी काफी बढ़ोत्तरी का कारण बनी, जिसके चलते दिल्ली का शिखर बिजली मांग 8302 मेगावाट तक पहुँच गया, जो अब तक का अधिकतम रहा है।

अत्यधिक गर्मी से परेशान दिल्ली को मिली थोड़ी राहत

हालांकि, IMD ने कुछ क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी की सूचना दी है, जिसने राजधानी के निवासियों को थोड़ी राहत दी है। यह बारिश हल्की थी लेकिन यह काफी हद तक इस भीषण गर्मी को कम करने में सफल रही। विशेषज्ञों का कहना है कि मानसून की पहली बारिश से इसके बाद के दिनों में थोड़ी और राहत मिल सकती है, लेकिन तब तक दिल्लीवासियों को अत्यधिक गर्मी का सामना करना पड़ेगा।

विशेषज्ञ यह भी सलाह दे रहे हैं कि इस प्रकार की उच्च तापमान की स्थिति में सबसे अच्छा उपाय यह है कि लोग घर के अंदर रहें, धूप में बाहर कम निकलें और खुद को हाइड्रेटेड रखें। अत्यधिक गर्मी के चलते हीट स्ट्रोक और अन्य स्वास्थ्य समस्या होने की संभावना अधिक होती है। इसके चलते, चिकित्सा विशेषज्ञों ने लोगों को ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ पीने और बहुत जरुरी न हो तो धूप में बाहर ना जाने की सलाह दी है।

दिल्ली में मौसम पूर्वानुमान और आगे की स्थिति

IMD ने अगले कुछ दिनों के मौसम के बारे में भी चेतावनी दी है। दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में तापमान उच्च स्तर पर बने रहेंगे। मौजूदा स्थिति को देखते हुए, IMD ने हेल्थ एडवाइजरी भी जारी की है, जिसमें लोगों से कहा गया है कि ज्यादा से ज्यादा समय घर के अंदर बिताएं और धूप से बचाव करें। इसके साथ ही, बच्चों और बुजुर्गों को विशेष ध्यान देने की सलाह दी गई है।

उच्च तापमान और बिजली की मांग को देखते हुए, दिल्ली सरकार ने भी कुछ कदम उठाए हैं। लोगों से बिजली के संयोजनों का सही उपयोग करने और बेवजह बिजली बर्बाद ना करने की अपील की गई है। इसके अलावा, बिजली वितरण कंपनियों को भी इस अत्यधिक मांग के मद्देनजर कुछ उपाय करने को कहा गया है।

दिल्लीवासियों के लिए उचित उपाय

इस अत्यधिक गर्मी के दौरान लोगों को कुछ सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है। धूप में बाहर जाने से बचें और यदि बाहर जाना ही पड़े तो सिर और शरीर को कवर करें। हल्के और सूती कपड़े पहनें, जिससे शरीर का तापमान नियंत्रित रहे। प्रचुर मात्र में पानी और तरल पदार्थों का सेवन करें, ताकि शरीर में पानी की कमी न हो। फलों और सब्जियों का सेवन अधिक करें और जितना हो सके एयर कंडीशनर या कूलर का उपयोग करें।

यह समय दिल्लीवासियों के लिए एक चुनौतीपूर्ण है, लेकिन सही सावधानियां और उपायों का पालन करके इस अत्यधिक गर्मी से बचा जा सकता है। सरकारी और गैर-सरकारी संस्थानों द्वारा भी गर्मी से निपटने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं।

तो, यह दिल्ली के लिए एक कठिन दौर है और हमें मिलकर इस चुनौती का सामना करना है। उम्मीद है कि जल्दी ही मानसून की बारिश हमें इस अत्यधिक गर्मी से राहत दिलाएगी।

ऐसी ही पोस्ट आपको पसंद आ सकती है

श्रेणियाँ